स्वराज ख़बर

आज की ताज़ा ख़बर

कलेक्टर अजय श्रीवास्तव दिव्यांगों के लिए बने मसीहा, मदद का बढ़ाया हाथ

मऊगंज

मऊगंज कलेक्टर अजय श्रीवास्तव ने एक और दिव्यांग की तरफ मदद का बढ़ाया हाथ। इसके पूर्व दोनों हाथ से विकलांग युवक को उपलब्ध करा चुके हैं लैपटॉप वहीं दूसरी ओर रीवा के संजय गांधी अस्पताल के डॉक्टरों ने जिस युवक का पैर काटने की बात कही थी उसको भोपाल भेज कर पूरी तरीके से ठीक कर के वापस मऊगंज बुला चुके हैं। अब बारी है दोनों आंखों से ना देख पाने वाले युवक की।

मऊगंज जिला के अंतर्गत हनुमना जनपद पंचायत के पंचायत पाती मिश्रान निवासी इंद्रजीत कोल की रोशनी चली जाने से इंद्रजीत कोल असहाय हो गया था। इस बात की जानकारी जैसे ही मऊगंज कलेक्टर को जानकारी मिली वैसे ही कलेक्टर अजय श्रीवास्तव उसके घर पहुंचे और तुरंत एंबुलेंस बुलाया उसे इलाज के लिए अस्पताल पहुंचवाया।जब यह जानकारी मऊगंज विधायक प्रदीप पटेल को मिली तो मऊगंज विधायक प्रदीप पटेल भी युवक की हाल-चाल पूछने पहुंचे।

मऊगंज के 18 वर्षीय युवक इंद्रजीत कोल की वर्ष पूर्व आंखों की रोशनी चली गई थी। तब से युवक और उसके परिजन निराश थे उन्होंने पूरी तरीके से आशा ही छोड़ दी थी परिजनों के साथ युवक भी निराश होकर घर बैठ गया था जैसे ही कलेक्टर मऊगंज अजय श्रीवास्तव कि इस पहल की जानकारी मऊगंज के विधायक प्रदीप पटेल को मिली वह भी पहुंच मिला सहारा दोनों के सहयोग से जागी उम्मीदे। कलेक्टर अजय श्रीवास्तव इस समय विकलांग लोगों के लिए जिस तरीके से कम कर रहे हैं मऊगंज के लोग इस बात की खुले दिल से सराहना कर रहे हैं।

कृष्ण केवट की बाधा दूर
कलेक्टर अजय श्रीवास्तव ने दिव्यांग कृष्ण कुमार केवट निवासी भाटी सेंगर हर्रई मुडहान के घर किए गए वायदे अनुसार पहुंच कर पढ़ने के लिए लैपटॉप और यूपीएससी की तैयारी करने के लिए गाइड्स और किताबें प्रदान की हैं। मऊगंज कलेक्टर अजय श्रीवास्तव को विगत दिनों मीडिया के द्वारा यह जानकारी जब प्राप्त हुई कि दिव्यांग कृष्ण कुमार केवट बहुत ही होनहार छात्र है उसके दोनों हाथ जन्म से ही नहीं है। उसने अपने पैरों के सहारे पढ़ाई कर 12 वीं की कक्षा में 82 फीसदी अंक प्राप्त किए थे।