स्वराज ख़बर

आज की ताज़ा ख़बर

कारम बांध :8 निलंबित अफसरों पर विभागीय जांच शुरू

भोपाल

धार जिले में कारम बांध के क्षतिग्रस्त होने के मामले में प्रथम दृषतया दोषी पाए जाने के बाद निलंबित किये गए आठ अफसर को जारी नोटिस में  इनके जवाब समाधान कारक नहीं पाए जाने पर अब उनकी संयुक्त विभागीय जांच शुरू कर दी गई है।  कारम बांध के क्षतिग्रस्त होने पर की गई प्राथमिक जांच में प्रभारी मुख्य अभियंता सीएस घाटोंले  एस ई पी जोशी, ईई  बी एल निनामा, एसडीओ विकार अहमद, सब इंजीनियर  विजय कुमार, सब इंजीनियर राजेंद्र कुमार श्रीवास्तव ,सब इंजीनियर अशोक कुमार, राम सब इंजीनियर दशाबंता सिसोदिया को 26 अगस्त 2022 को निलंबित किया गया था। 17 नवंबर 2022 को इन सभी को आरोप पत्र जारी कर इसे जवाब मांगा गया था।

धार जिले की कारम मध्यम सिंचाई परियोजना के निर्माण कार्य की प्रगति हेतु सार्थक प्रयास और समय पर उचित निर्णय नहीं लिए जाने के कारण कारम बांध के क्षतिग्रस्त होने की स्थिति निर्माण हुई थी और बांध की सुरक्षा को खतरा उत्पन्न हुआ था कारम बांध की क्षतिग्रता और उत्पन्न स्थितियों के लिए विभाग के इन सभी अधिकारियों को आरोप पत्र जारी कर जवाब मांगे गए थे। तत्कालीन मुख्य अभियंता को छोड़कर शेष सभी सात अधिकारियों के जवाब समाधान कारक नहीं पाए गए हैं। 

जवाब समाधान कारक नहीं मिलने पर अब राज्य शासन ने इन सभी आंठो अफसर की संयुक्त विभागीय जांच करने का निर्णय लिया है इसके लिए अपर सचिव कृष्ण गोपाल तिवारी को जांच करता अधिकारी और मुख्य अभियंता नर्मदा ताप्ती कछार इंदौर को प्रस्तुत करता अधिकारी नियुक्त किया गया है ।

विधानसभा में उठा था मामला
उल्लेखनीय है कि विधानसभा के पिछले सत्र में राज्य सरकार ने जवाब दिया था कि कारम बांध का पर्यवेक्षण केंद्रीय जल आयोग कर रहा है तथा उसके पर्यवेक्षक के बाद ही इस बांध के पुनर्निर्माण का कार्य आरंभ किया जाएगा।