स्वराज ख़बर

आज की ताज़ा ख़बर

आकाश चोपड़ा ने फॉर्म में वापसी के लिए विराट कोहली को बताया अचूक उपाय

नई दिल्ली
आईसीसी वर्ल्ड कप 2023 और फिर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2024 में विराट कोहली का बल्ला जमकर आग उगल रहा था, लेकिन टी20 विश्व कप 2024 में विराट के बैट पर मानो जंग सी लगी हुई है। लीग राउंड में भारतीय टीम ने तीन मैच खेले, जबकि एक मैच बारिश में धुला। इन तीन मैचों में विराट एक भी पारी दहाई के आंकड़े तक भी नहीं पहुंच पाए। विराट कोहली की फॉर्म को लेकर फैन्स तो चिंतित हैं, लेकिन क्रिकेट एक्सपर्ट्स और पूर्व क्रिकेटरों को विश्वास है कि विराट कोहली सुपर-8 में रनों का अंबार लगा देंगे। टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने भी फॉर्म में वापसी के लिए विराट कोहली को एक अचूक उपाय बताया है। विराट को लेकर भविष्यवाणी करते हुए आकाश चोपड़ा ने कहा कि वो अफगानिस्तान के खिलाफ मैच के साथ ही फॉर्म में वापसी कर लेंगे।

जियो सिनेमा के आकाशवाणी शो पर आकाश चोपड़ा ने विराट कोहली के टी20 वर्ल्ड कप 2024 में प्रदर्शन को लेकर कहा, 'मुझे लगता है कि विराट कोहली को अफगानिस्तान के खिलाफ मैच के साथ फॉर्म में वापसी कर लेनी चाहिए, इसलिए नहीं कि कौन विरोधी टीम है, बल्कि अपने कैलिबर को देखते हुए। जो वेन्यू है, उसे देखते हुए कहा जा सकता है कि गेंद बैट पर अच्छे से आएगी इसके अलावा बाउंड्री भी बहुत बड़ी नहीं हैं। मुझे लगता है कि वो पहले तीन मैचों में ओवर एग्रेसिव रहे हैं, अफगानिस्तान के खिलाफ विराट ने अपना पिछला टी20 इंटरनेशनल मैच बेंगलुरु में खेला था, जहां वो छक्का लगाने के चक्कर में आउट हो गए थे। टी20 वर्ल्ड कप में जिस तरह से वो आउट हुए हैं, दिखाता है कि वो शुरू से एग्रेविस अप्रोच के साथ उतर रहे हैं। मैं उम्मीद करता हूं कि वो खुद को कुछ समय देंगे, फजलहक फारूकी और नवीन उल हक शानदार फॉर्म में हैं, इसके अलावा अफगानिस्तान के पास बढ़िया स्पिन अटैक भी है। अगर विराट खुद को कुछ समय देते हैं, तो ऐसे में उनकी फॉर्म चिंता का सबब नहीं रह जाएगी।'
 
कैरेबियाई पिचों को लेकर आकाश चोपड़ा ने कहा, 'न्यूयॉर्क की पिच टी20 क्रिकेट के लिए सही नहीं थी। बॉलर्स ने डॉमिनेट किया और बैटर्स को संघर्ष करना पड़ा। वेस्टइंडीज की बात करें तो यहां हर वेन्यू की अपनी अलग चुनौती होगी। टरौबा पिच में बहुत कम उछाल है, गुयाना में गेंद काफी ज्यादा घूमती है, बारबाडोस की पिच बढ़िया है। ओवरऑल बैटर्स के लिए पिचें मुश्किल हैं और हाई स्कोरिंग मैच कम ही देखने को मिलेंगे।'