स्वराज ख़बर

आज की ताज़ा ख़बर

शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मनेरी मैं विगत वर्षों से चल रहे अनिमित्ताओ को लेकर किया जा रहा विरोध

मंडला
आदिवासी बाहुल्य जिला मंडला  के अंतर्गत निवास विकासखंड संकुल केंद्र मनेरी हायर सेकेंडरी स्कूल का विभिन्न मामला अनिमित्ताओ को लेकर विगत दिनों से चर्चित में है और सूत्रों से पता चला कि मामला और भी ज्यादा गर्माता जा रहा है । मध्य प्रदेश बोर्ड शिक्षा केंद्र भोपाल के आदेश अनुसार मनेरी स्कूल को c m राइस स्कूल का दर्जा मिला है सुनने में यह बड़ा ही अच्छा लगता है परंतु जिम्मेदार मनेरी हायर सेकेंडरी स्कूल में राजनीति माहौल की सरगर्मी या पद का घमंड जिम्मेदारों को क्या कहा जा सकता है, मनेरी सरपंच सहित ग्रामीणों का कहना है मामला और भी बढ़ती जा रही है

उन्होंने यह भी कहा कि अनेकों बार लिखित पत्र के माध्यम से आवेदन निवेदन किया गया पर प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा विषय को संज्ञान में नहीं लिया जा रहा है  कहा जाए तो सीधे शब्दों में सी एम राइस स्कूल के संचालन हेतु वर्तमान प्राचार्य शुभेंदु कुमार दास रसायन व्याख्याता को प्राचार्य के रूप में बागडोर संभालने के लिए आदेशित किया गया परंतु सुनने में आता है की नियम के बड़े पक्के हैं और बड़े सख्त हैं पर इस स्कूल की हवा पानी इनको ही चेंज कर दिया है।

उनके नियम व सख़्तता पन सरकार के  कोर्ट नियम कानून के ऊपर है मध्य प्रदेश शिक्षा मंडल भोपाल ने अतिथि शिक्षक भर्ती को लेकर आदेशित किया पर पूरे पूरे  ढाई महीने बीत जाने के बाद भी आज तक  अतिथि शिक्षक भर्ती प्रक्रिया पूर्ण नहीं कर पाए कोर्ट के नियम अनुसार पैनल विधि अनुसार स्कोर कार्ड  को देखते हुए B.Ed,d.Ed पढ़ाई का स्तर को ध्यान में रखते हुए अतिथि शिक्षकों की भरती की जानी थी, परंतु मनेरी हायर सेकेंडरी स्कूल प्राचार्य अपनी अड़ियल तानाशाही रवैया से दो दो बार एस एम डीसी की बैठक में शिक्षकों की भर्ती चयन के निर्णय को दरकिनार करते हुए अपनी मनमर्जी राजनीति में लिप्त शिक्षकों की भर्ती कर ली गई है जो की कोर्ट के आदेश का सीधा-सीधा उल्लंघन है परंतु सत्ता के रहते सब जायज है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार  जिन अतिथि शिक्षकों की भर्ती इन्हीं के द्वारा की गई है इन शिक्षकों के ऊपर  एस एम डीसी समिति बैठक में पालक शिक्षक संघ के सदस्यो ने आपत्ति दर्ज करते हुऐ प्रस्ताव पारित किया गया है परन्तु प्राचार्य  ने यह साबित कर दिया की कोर्ट के नियम से स्कूल नहीं चलता बल्कि प्राचार्य के मनमर्जी से चलता है ।

1,,बगैर विज्ञप्ति निकाले बायोलॉजी वाले शिक्षक को केमिस्ट्री पढ़ाने के लिए भर्ती कर लिया जबकि केमिस्ट्री विषय के स्वयं ही लेक्चरर हैं
2,, कॉमर्स संकाय में पढ़ाई स्तर, व पैनल, को स्कोर कार्ड को B.Ed, को भी महत्व ना देते हुए आपत्ती जनक अतिथि शिक्षक की भर्ती किया गया है
3,, एस एम डीसी समिति ने जिस अतिथि शिक्षक की भर्ती की है उसे प्रवेश नहीं दिया जा रहा।
4. प्राचार्य के इस रवैया से पूरा संकुल परेशान है आए दिन कुछ ना कुछ नया बखेड़ा खड़ा होता रहता है वही स्टॉप में भी दहशत बनी रहती है
5, सारी समस्याओं की जानकारी सहायक आयुक्त शिक्षा अधिकारी मंडला को लिखित रूप से ज्ञात कर दी गई है पर कहीं ना कहीं इसमें भी मिली भगत ही सिद्ध हो रहा है।
6.सत्यम नामदेव द्वारा मनेरी स्कूल की जांच आर टी आई लगाई गई है महीनो बीत रहे हैं उसका भी कोई जवाब नहीं दिया जा रहा।