स्वराज ख़बर

आज की ताज़ा ख़बर

मुख्यमंत्री ने लाड़ली बहना योजना अंतर्गत पात्र महिलाओं के खाते में राशि की अंतरित

  • सीधी जिले की 203951 महिलाओं के खाते में 20 करोड़ 5 लाख 46 हजार 6 सौ रूपये की राशि डाली गई
  • मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना बहनों की सशक्तिकरण की दिशा में क्रान्तिकारिक पहल – सांसद श्रीमती पाठक
  • जिले में सभी ग्राम पंचायतों तथा नगरीय वार्डों में कार्यक्रमों का हुआ आयोजन

सीधी
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना के इंदौर में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में प्रदेश की एक करोड़ 25 लाख से अधिक बहनों के खाते में सिंगल क्लिक से लाड़ली बहना योजना की दूसरी मासिक किस्त 1209.62 करोड़ रूपए की राशि उनके खाते में अंतरित की गई। मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना के अन्तर्गत सीधी जिले की 02 लाख 03 हजार 951 पात्र महिलाओं के खाते में प्रति महिला एक हजार रूपये के मान से 20 करोड़ 5 लाख 46 हजार 06 सौ रूपये अंतरित की गई। जिले की सभी ग्राम पंचायतों तथा नगरीय निकायों के प्रत्येक वार्ड में हर्षोल्लास पूर्ण वातावरण में खुशियां मनाई गईं। सभी ग्राम पंचायतों तथा नगरीय निकायों के प्रत्येक वार्ड में राज्य स्तरीय कार्यक्रम के सजीव प्रसारण दिखाने की व्यवस्था की गई थी। कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों तथा सभी पात्र महिला हितग्राहियों द्वारा सहभागिता की गई। महिला हितग्राहियों ने लाड़ली बहना थीम पर आधारित रंगोली, लोक गीत एवं लोक नृत्य, नुक्कड़ नाटक एवं अन्य माध्यमों से मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का आभार व्यक्त किया।

  मानस भवन सीधी में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सांसद श्रीमती रीती पाठक ने कहा कि मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण की दिशा में एक मील का पत्थर साबित होगी। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने रक्षाबंधन का त्यौहार खुशियों के साथ मनाने के लिए उपहार स्वरूप बहनों के खाते में आज 01 हजार रुपये की राशि डालकर सराहनीय कार्य किया है।  इस योजना के माध्यम से अभी बहनों के खाते में अभी प्रतिमाह एक हजार रुपये की राशि डाली जा रही है जिसे बढ़ाकर 3 हजार रुपये किया जाएगा। इस योजना से महिलाओं की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। वे सशक्त, आत्मनिर्भर, स्वावलंबी बन देश और प्रदेश के विकास में अपना योगदान देगी।

सांसद ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान महिलाओं तथा बच्चियों के जीवन में सकारात्मक बदलाव के लिए सदैव तत्पर रहते हैं। यह मुख्यमंत्री जी के ही प्रयास हैं कि लाड़ली लक्ष्मी योजना से बेटियों के प्रति समाज में एक सकारात्मक वातावरण निर्मित हुआ है। आज प्रदेश में लिंगानुपात बढ़ा है, बेटियों के जन्म पर उत्सव मनाया जाता है। बेटी के जन्म से उसके पढ़ाई लिखाई की पूरी जिम्मेदारी प्रदेश सरकार ने ली है। अब मुख्यमंत्री ने लाड़ली बहना योजना के माध्यम से बहनों की सशक्तिकरण की दिशा में क्रान्तिकारिक पहल की है। यह घटना अद्वितीय और अभूतपूर्व है। यह राशि बहनों के सशक्तिकरण में अहम भूमिका निभाएगी। साथ ही समूह के माध्यम से महिलाएं प्रदेश में सशक्त हो रही है। मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के माध्यम से गरीब परिवार की लोग अपने बच्चों की शादी धूमधाम कर पा रहे है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी गरीब एवं वंचित वर्ग के लोगों के उत्थान के लिए कई जनकल्याणकारी योजनाओं का संचालन कर रहे हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना से गरीब परिवार के लोगों का पक्का मकान का सपना पूरा हुआ है। उज्ज्वला योजना अंतर्गत गैस कनेक्शन देकर महिलाओं के जीवन में अद्वितीय परिवर्तन हुआ है पहले महिलाओं को धुएं में खाना बनाने के लिए विवश थी फेफड़े जैसी बीमारी से पीड़ित हो जाती थी इस योजना से उनके जीवन सकारात्मक सुधार हुआ है। जल जीवन मिशन अंतर्गत हर घर में नल के माध्यम से पानी पहुंचाने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों के लिए किसान सम्मान निधि योजना के माध्यम से 06 हजार रुपए केंद्र सरकार और 06 हजार रुपए राज्य सरकार के माध्यम से देने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आयुष्मान कार्ड के माध्यम से गरीब परिवार के लोगों को बीमारी के समय 05 लाख रुपए तक का नि:शुल्क इलाज की व्यवस्था कि गई है।

  कलेक्टर साकेत मालवीय ने कहा कि मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना मुख्यमंत्री जी की महिलाओं के सशक्तिकरण, उनकी उन्नति, उनके स्वावलंबन के प्रति सोच को दर्शाता है। प्रदेश की प्रत्येक महिला आर्थिक रूप से स्वावलंबी बने इस सोच के साथ मुख्यमंत्री जी ने इस योजना को लागू किया है। इस योजना से प्रत्येक पात्र महिला को प्रत्येक माह एक हजार रुपये की राशि मिलेगी, वर्ष में 12 हजार रुपये। इस राशि को वह स्वेच्छा से खर्च कर सकेंगी। अपनी छोटी-छोटी रोजमर्रा की जरूरतों के लिए वह किसी पर निर्भर नहीं रहेंगी। अपना और अपने परिवार के पोषण आदि की जिम्मेदारी स्वयं ही उठा पाएंगी। कलेक्टर ने कहा कि इस योजना ने देश के अन्य प्रदेशों के लिए भी एक उदाहरण प्रस्तुत किया है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना अंतर्गत जिले में 2 लाख 3 हजार 951 पात्र हितग्राहियों के खाते में राशि अंतरित की गई है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना के अन्तर्गत जनपद पंचायत कुसमी में 16 हजार 956 महिलाओं, जनपद पंचायत मझौली में 28 हजार 252, जनपद पंचायत रामपुर नैकिन में 43 हजार 442, जनपद पंचायत सीधी में 53 हजार 223 तथा जनपद पंचायत सिहावल में 49 हजार 446 महिलाओं के खाते में एक हजार रूपये के मान से राशि अंतरित की गई। कार्यक्रम में ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं के साथ ही नगरीय क्षेत्र की महिलाओं को भी लाभांवित किया गया। इसमें नगर पालिक सीधी में 6 हजार 82, नगर परिषद चुरहट में 2 हजार 385, नगर परिषद मझौली में 2 हजार 47 तथा नगर परिषद रामपुर नैकिन में 2 हजार 118 महिलाओं के खाते में एक हजार रूपये प्रत्येक महिला के मान से राशि अंतरित की गई।

 जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास अवधेश सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना अंतर्गत ग्राम एवं वार्ड स्तर पर जागरूक महिलाओं को संगठित कर लाड़ली बहना सेना का गठन किया गया है। जिले में कुल 1145 ग्राम में लाड़ली बहना सेना का गठन कर 17175 लाड़ली बहनों को जोड़ा गया है। 1120 गठित सेना पोर्टल पर अपलोड है। इसी प्रकार नगरीय निकाय के वार्डों में भी लाड़ली बहना सेना का गठन किया गया है।

कार्यक्रम में समाजसेवी देव कुमार सिंह चौहान, जनप्रतिनिधियों, गणमान्य नागरिकों तथा लाड़ली बहनों द्वारा सहभागिता की गई।